Home / सच्चाई / इसाईयत / माधवराव सिंधिया और सोनिया गाँधी एक साथ कार में आपत्तिजनक अवस्था में !

माधवराव सिंधिया और सोनिया गाँधी एक साथ कार में आपत्तिजनक अवस्था में !

वो रिश्ता जिसे सोनिया ने कभी नहीं स्वीकार !

भारत की सबसे ताकतवर महिला शासक जिसके प्रत्यक्ष हाथ में सत्ता भले ही न हो लेकिन जो एक पार्टी की सर्वेसर्वा हैं. भारतीय राजनीती में सोनिया गाँधी के बारे में बहुत से अनसुलझे पहलु है, जिसे अभी आना है..कांग्रेस पार्टी सोनिया गाँधी की जो पृष्टभूमि बताते आई है, वो समय समय पर गलत साबित हुआ है..चाहे बात उनके असली नाम की हो या उनके डिग्री को लेकर..

लेकिन आज हम आपको बतायेंगे सोनिया गाँधी का एक ऐसा सच जिसके बारे में शायद ही आपको पता हो, राजीव अकेले सोनिया गाँधी के मित्र नहीं थे, माधवराव सिंधिया भी उनके अंतरंग मित्रों में से एक थे, माधवराव और सोनिया गाँधी की दोस्ती राजीव सोनिया की शादी से पहले से थी..

माधवराव से उनकी दोस्ती राजीव से शादी के बाद भी जारी रही, सोनिया और माधवराव का रिश्ता अक्सर कैमरे की नजरो से बचनें की नाकाम कोशिस करता था, दोनों छुप-छुप कर रेस्टोरेंट जाया करतें थे..ये रिश्ता ना तो कैमरा के नजरो से बच सका और ना ही देश के लोगो से, अगर ये सब किसी पश्चिम के देशो में होता तो शायद उस रिश्ते को ये दोनों आसानी से कबूल कर लेते.

वेसे माधवराव सिंधिया एक राजशाही परिवार से ताल्लुक रखते थे, और पारिवारिक परम्परा कुछ ऐसी थी की सिंधिया वंश का कोई बेटा हो या बेटी शादी किसी राजशाही परिवार में ही होती थी, शायद यहीं वजह था जो दोनोँ ने कभी अपनें रिश्ते को सार्वजनिक नहीं किया.

बहुत कम लोगों को यह पता है कि 1982 में एक रात को दो बजे माधवराव की कार का एक्सीडेंट आईआईटी दिल्ली के गेट के सामने हुआ था, और उस समय कार में दूसरी सवारी थीं सोनिया गाँधी। दोनों को बहुत चोटें आई थीं, आईआईटी के एक छात्र ने उनकी मदद की, कार से बाहर निकाला, एक ऑटो रिक्शा में सोनिया को इंदिरा गाँधी के यहाँ भेजा गया, क्योंकि अस्पताल ले जाने पर कई तरह से प्रश्न हो सकते थे, जबकि माधवराव सिन्धिया अपनी टूटी टाँग लिये बाद में अकेले अस्पताल गये..

कहा जाता है, और जब परिदृश्य से सोनिया पूरी तरह गायब हो गईं तब दिल्ली पुलिस ने अपनी भूमिका शुरु की. उस दिन दोनोँ शराब के नशे में थे, बाद में दोनोँ के रिश्तो में दरार आई और माधवराव सिंधिया सोनिया के आलोचक बन गये..2001 में माधवराव की विमान दुर्घटना में मौत के साथ ही दोनों के रिश्तो की कहानी भी दफन हो गयी..

source : newsbust

About Akhil Bharat Hindu Mahasabha

One comment

  1. ITS TGE BEST THE BEST SITE. PROUD TO BE HINDU.