Home / मीडिया / जनमंच / राम मन्दिर मामले में डा0 संतोष राय हिन्दू महासभा के पैरोकार नियुक्त

राम मन्दिर मामले में डा0 संतोष राय हिन्दू महासभा के पैरोकार नियुक्त

पांच नये अधिवक्ताओं का पैनल घोषित किया गया

पक्षकारों के अलावा अन्य किसी के बीच समझौते की वार्ता मान्य नहीं

लखनऊ। अखिल भारत हिन्दू महासभा ने उच्‍चतम न्‍यायालय  में चल रहे राम जन्मभूमि पर मन्दिर बनाये जाने के मामले में पार्टी का पक्ष रखने के लिये डा0 संतोष राय को पैरोकार नियुक्त किया है और साथ पांच अधिवक्ताओं का पैनल भी बनाया है जो उच्‍चतम न्‍यायालय  में सुनवाई के दौरान हिन्दू महासभा का पक्ष रखेगें। उधर राम मन्दिर मामले में हिन्दू महासभा का पक्ष रखने के लिये नवनियुक्त पैरोकार डा0 संतोष राय ने अपनी प्रतिक्रिया में साफ कहा है कि इस मामले में राम मन्दिर का मुकदमा लड़ रहे पक्षकारों के अलावा अन्य किसी दल या संगठनों के बीच वार्ता का कोई औचित्य नहीं है।

     हिन्दू महासभा राम जन्मभूमि पर सिर्फ मन्दिर की ही पक्षधर है  और मन्दिर के साथ मस्जिद बनाये जाने के बिल्कुल खिलाफ है। डा0 राय ने कहा कि उच्च न्यायालय के जन्मभूमि स्थल को तीन हिस्सों में बांटे जाने के फैसले के खिलाफ सुप्रीमकोर्ट में हिन्दू महासभा में अपील कर रखी है, इसलिये पार्टी सिर्फ मन्दिर का ही निर्माण चाहती है और उच्च न्यायालय के फैसले का सुप्रीम कोर्ट में पुरजोर विरोध करेगी।

     इससे पहले पार्टी की तदर्थ इकाई की हुई बैठक में इस आशय का निर्णय लेते हुये पार्टी के तदर्थ राष्ट्रीय अध्यक्ष दिनेश चन्द्र त्यागी ने बताया कि पांच अधिवक्ताओं वी0के0 शर्मा, बी0एस0 नरवार, जगदीप वत्स, रवि शर्मा और अवधेश कुमार सिंह का पैनल बनाया गया है जो पार्टी के विधिक मामलों के साथ-साथ राम जन्मभूमि के मामले में भी सुप्रीमकोर्ट में पार्टी का पक्ष भविष्य में रखेंगे।

     राम मन्दिर को बनाये जाने को अखिल भारत हिन्दू महासभा वर्ष 1950 से मुकदमा लड़ रही है और वर्तमान में उच्‍च न्‍यायालय  के निर्णय के बाद अपील पर उच्‍चतम न्‍यायालय  सुनवाई कर रहा है। बैठक में पार्टी ग्यारह सदस्यीय विशेष सदस्यों की कमेटी के साथ-साथ ग्यारह विशेष सदस्यों की समिति एवं पांच सदस्यीय सलाहकार समिति का भी गठन किया गया है।

About Akhil Bharat Hindu Mahasabha