Home / सच्चाई / इस्लाम / जिन्ना ने नहीं बल्कि मोतीलाल नेहरू ने मुस्लिमो के अलग देश की बात कही थी, और भारत के टुकड़े हुए

जिन्ना ने नहीं बल्कि मोतीलाल नेहरू ने मुस्लिमो के अलग देश की बात कही थी, और भारत के टुकड़े हुए

आज भारत को आज़ाद हुए पुरे 67 साल हो चुके है और इन सालो में ज्यादातर समय केवल एक ही वंश ने शासन किया है और वह था भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु का वंश या परिवार।  आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मोतीलाल नेहरु जोकि जवाहर लाल नेहरु के पिता थे

वे 1857 की क्रांति से पहले मुगल साम्राज्य के समय में एक शहर में कोतवाल हुआ करते थे और 1857 की क्रांति के बाद अंग्रेजो ने भारत पर पूरी तरह से कब्जा कर लिया था और मोतीलाल हमेशा अंग्रेज़ों के बड़े पिट्ठु बने रहे थे । वे क्रांतिकारियों से घृणा करते थे ।

और फिर उन्होंने इस सदी का सबसे ख़तरनाक षड्यंत्र रचा क्यूँकि जिनकी वो ग़ुलामी करते थे अर्थात अंग्रेज़ वो भी तो यही चाहते थे । इस बारे में  देखें और पढ़ें नीचे दी गयी ये रिपोर्ट  !!

motilal-report

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मोतीलाल ने ही उस समय 1928 में मुस्लिमो को अलग से और ज्यादा अधिकार दिलाने की बात कही थी, यहाँ तक की मुस्लिमो के लिए अलग से राष्ट्र तक का भी जिक्र किया था, जिसके बाद एक बार फिर मुस्लिमों में कट्टरपंथी इस्लाम की भावना जाग गयी थी, मुस्लिम लीग को भारत को तोड़ने का आईडिया मोतीलाल नेहरू ने दिया

उन्हें अहसास हो गया था कि अगर वे ज़्यादा इस्लामिक गतिविधियाँ करेंगे और ख़ुद को हिन्दुओं से अलग दिखाएँगे तो उन्हें ज़्यादा अधिकार मिलेंगे और आप जानते ही फिर बाद में इसी निर्णय के कारण देश का विभाजन हुआ था उस समय जब देश एक था

हिन्दू-मुस्लिम सब समान थे तो मोतीलाल ने मुसलमानों को खास अधिकार देने की वकालत हिन्दुओ के साथ और इस देश के साथ बहुत बड़ा धोखा किया था ।

आज पाकिस्तान और बांग्लादेश जो पहले भारत ही था, वहां हिन्दू लगभग ख़त्म कर दिए गए, इसका मुख्य दोषी मोतीलाल नेहरू है, और  में अपने पिता के कदमो पर चलते हुए नेहरू ने भी आधे कश्मीर पर पाकिस्तान का कब्ज़ा करवा दिया

source : dainikakhbar

About Akhil Bharat Hindu Mahasabha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*